इतिहास

ओझासाड़म प्रखण्ड मुख्यालय से 8 किलो मीटर पाशिम की ओर स्थित है यह पंचायत चारो ओर वनो से घिरा हुरा है इस पंचायत में कुल 10 गाँव आते है इसके पूरब में मुरूपीरी पंचायत, पाशिम में चान्हो प्रखण्ड, दक्षिण में मांडर प्रखण्ड एवं उत्तर में मक्का पंचायत सीमा है यह आदिवासी बहुल पंचायत है! यहाँ वर्षा पर आधारित खेती होती है मुख्यतः धान की खेती होती है सब्जी में टमाटर, गोभी, पालक, आलू, आदि मुख्य है! इस पंचायत में 25 प्रतिशत साक्षरता है अधिकतर लोग मज़दूरी करते है कुछ लोग ईंट भट्टे में बाहर जा कर काम करते है यह पंचायत उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र है!!